‘यमला पगला दिवाना फिर से’ पहले दिन ही बॉक्स ऑफिस पर हुआ बुरा हाल, फिल्म की कहानी ने किया दर्शको को निराश

‘यमला पगला दिवाना फिर से’ पहले दिन ही बॉक्स ऑफिस पर हुआ बुरा हाल, फिल्म की कहानी ने किया दर्शको को निराश

September 1, 2018 0 By Sports writer

धीरज रत्न की लिखी स्टोरी और स्क्रीनप्ले यमला पगला दिवाना काफी बोर करती है। यमला पगला दिवाना 2011 मे आई एक्शन-कॉमेडी-ड्रामा हिट फिल्म का पार्ट 3 है। काफी लंबे समय बाद आई इस फिल्म की कहानी ने दर्शको को काफी निराश किया। यमला पगला दिवाना पार्ट 2 ने कुछ खास असर दर्शको पर नही डाल पाई थी। लगता है इस फिल्म का भी वही हाल होगा। फिल्मो से काफी समय से दूर सनी देओल की यह दूसरी फ्लॉप फिल्म साबित होने वाली है। बोबी देओल भी काफी समय से फिल्मों से दूर थे, लेकिन रेस 3 से उन्होंने सफलतापूर्वक वापसी की है। वह अगर यमला पगला दिवाना फिल्म की बात की जाए तो बॉबी देओल का किरदार इस फिल्म में ज्यादा एंटरटेनिंग नही लगता है।

उनका किरदार फिल्म में कुछ फिका सा नजर आता है। वही अगर सनी देओल की बात की जाए तो वह एक्शन सिन में अब भी दमदार लगते है। साथ ही इस फिल्म की कहानी को देखकर लगता है कि धर्मेंद्र के किरदार काफी सोच समझ के लिखा गया है, जिससे यह किरदार एंटरटेनिंग लगता है। फिल्म के कुछ सीन को छोड़ कर बाकी की फिल्म की कहानी बेवजह खिची हुई लगती है। फिल्म के फर्स्ट पार्ट में कुछ अच्छे सीन्स है जो दर्शको को बांधती है। लेकिन 7 साल बाद की फिल्म की कहानी बोर करती है।

फिल्म की कहानी

पुराण (सनी देओल) जो कि पंजाब से है एक ईमानदार आयुर्वेद डॉक्टर हैं। वे नब्ज छूकर ही लोगों की बीमारी बता देते हैं। पुराण के पास सभी बीमारियों के इलाज की एक दवाई है जिसका नाम वज्र कवच है। इस दवाई का फॉर्मूला पुराण को पूर्वजों से मिला है। पुराण नहीं चाहता कि इसे कोई दूसरा यूज करे। वह जानता है कि अगर यह फाॅर्मूला दवाई कंपनियों के पास चला जाएगा तो ये गरीब जनता की पहुंच से बाहर हो जाएगा। पुराण का एक लोफर भाई है (बॉबी देओल) जिसका नाम काला है। उसकी उम्र 40 साल है। जिसकी ना तो शादी हुई है और ना ही उसके पास कोई रोजगार है। इसके साथ ही वह शराब पीने का आदी है। काला अक्सर पुराण की परेशानियों को बढ़ाने का काम करता है। इनका किराएदार तेनंत परमार (धर्मेंद्र) जो सिर्फ 110 रुपए किराया देता है। इसके बाद गुजरात से चीकू (कीर्ति खरबंदा) इनकी लाइफ में आती हैं और सबकी लाइफ में कुछ बदलाव होने लगते हैं। आखिर में तीनों देओल अन्याय के खिलाफ लड़ने के लिए एकजुट हो जाते हैं।

देखे यमला पगला दिवान मूवी ट्रैलर