भारत में अब नही देख सकेंगे पोर्न, जियो ने लगाया बेन, जानिए क्या है इसकी असली वजह

भारत में अब नही देख सकेंगे पोर्न, जियो ने लगाया बेन, जानिए क्या है इसकी असली वजह

October 28, 2018 0 By Sports writer

पिछले कुछ दिनों से भारत में पोर्न वेबसाइट पर प्रतिबंध की खबरें सुनने में आ रही है। हालाकि कुछ लोग इससे अभी तक वाकिफ नही है। दरअसल 24 अक्टूबर 2018 से भारत की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी जीयो ने भारत में 800 से अधिक पोर्न साइट्स पर बेन लगा दिया है। उत्तराखंड में रेप की घटना के बाद केस का फैसला सुनाते हुए अदालत ने जियो को पोर्न साइट्स पर बेन लगाने का आदेश दिया है। यह बेन अभी केवल जियो नेटवर्क यूजर्स पर लगा है। बाकी मुख्य टेलिकॉम कंपनियां भी जल्द पोर्न साइट्स पर बेन लगाने वाली है।

पोर्न साइट्स को बेन करने वाली जियो भारत में पहली टेलिकॉम कंपनी है। इससे पहले भी भारत में पोर्न साइट्स पर बेन को लेकर काफी विवाद हो चूका है लेकिन आज तक ऐसा कुछ हुआ नही। बल्कि भारतीय जनरेशन धड़ले से पोर्न साइट्स को चलाती है और उनकी विडीयो को शेयर भी करती है। जिस पर सोशल साइट्स भी रोक नही लगा पा रही है।
जियो के इस फैसले से जहां कई लोग काफी खुश नजर आ रहे है वही दूसरी ओर कई लोग इसकी आलोचना भी कर रहे है उनका कहना है कि यह उनके मौलिक अधिकारों के विरूद्ध फैसला है।

एक सर्वे के मुताबिक, इस प्रकार के वीडियो का लोगों के दिमाग और व्यवहार पर बहुत बुरा असर पड़ता है। लगातार पोर्न देखने से सोचने समझने की क्षमता भी कम हो जाती है। यह सीधा-सीधा आपकी यादाश्त पर असर डालता है। लगातार पोर्न वीडियो देखने से यह आप पर बहुत बुरा प्रभाव डाल सकता है क्योंकि यह शरीर के हार्मोन को उत्तेजित करता है। जियो द्वारा पोर्न साइट्स को बंद करे जाने का मुख्य कारण लगातार बड़ रहे बलात्कार की घटनाए और लड़कियों के उत्पीड़न का कारण माना जा रहा है।

Jio- banned porn sites

Jio- banned porn sites

इसी कारण अदालत ने भी इंटरनेट पर इन गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाने का फैसला सुनाया हैं। पोर्न साइट्स पर बेन को लेकर कुछ लोग विरोध कर रहे है साथ ही कुछ लोग इस फैसले का सम्मान भी कर रहे है। लेकिन इन सब के बीच एक तीसरी सोच वाले लोग भी है जो लगातार सोशल मीडिया और अन्य माध्यमों से बेन के बाद कैसे पोर्न साइट्स को इंडिया में देखे इसके बारे में जानकारी प्रदान कर रहे है जो की बहुत शर्मनाक हरकत है।

यह लोग पोर्न साइट्स के बेन के फैसले की नाजुकता को नही समझ रहे है। वह नही जानते कि वह किस प्रकार की मानश्किता वाले लोगो का सहयोग कर रहे है। लोग इस पोर्न बेन का विरोध तो कर रहे है लेकिन इस मामले की गंभीरता को नही समझ रहे है। जो लोग इन वेबसाइट्स को देखते है वह समाज को कितनी हानि पहुंचाते है।

हमारे समाज को प्रतिदिन बलात्कार और उत्पीड़न के मामलो से शर्मसार होना पड़ता है और जिसके साथ यह घटना होती है उसका तो पूरा जीवन तो जीते जी ही नर्क बन जाता है।

  • आपका इस मामले में क्या कहना है कमैंट कर हमें जरूर बताएं। क्या इन पोर्न वेबसाइट्स का भारत में बेन का फैसला सही है? या सरकार को इस बेन के फैसले को वापस ले लेना चाहिए। अपना जवाब नीचे कमैंट बॉक्स में बताएं।