10वीं के मैथ्स टेस्ट में फेल हुआ गूगल का आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस वाला रोबोट

10वीं के मैथ्स टेस्ट में फेल हुआ गूगल का आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस वाला रोबोट

April 30, 2019 0 By Amit kumar

स्ट्रेंज: एआई प्रोग्राम डीपमाइंड मैथ्स का साधारण सा टेस्ट भी पास नहीं कर पाया, 40 में से मिले 14 नंबर

न्यूयाॅर्क. गूगल ने एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आधारित एक रोबोट तैयार किया है जो हाई स्कूल के मैथ्स के साधारण टेस्ट में फेल हो गया है। इस टेस्ट में रोबोट को 40 में से सिर्फ 14 अंक ही मिले हैं। 10वीं के मैथ्स के पाठ्यक्रम में ट्रेंड होने के बावजूद यह एआई सिस्टम 40 में से 14 अंक ही प्राप्त कर पाया। गूगल के इस एआई सिस्टम के मैथ्स टेस्ट में फेल होने से एआई राेबाेट्स पर बड़ा सवाल खड़ा हाे गया है।

टेस्टिंग में आया सामने प्रोग्राम को सवालों को हल करने में आ रही थी दिक्कत

डीपमाइंड की रिसर्च टीम ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि गूगल के इस एआई सिस्टम को अलजेब्रा, कैलकुलस, प्रोबेबिलिटी जैसे मैथ्स के कई टॉपिक के बारे में अच्छे से ट्रेनिंग दी गई थी, लेकिन बावजूद इसके वह टेस्ट में फेल हो गया है, वहीं टेस्टिंग के दौरान यह भी बात सामने आई कि रोबोट को प्रश्नों के अनुवाद करने में काफी परेशानी हुई।

इसके अलावा प्रश्नों को हल करने में भी रोबोटो को काफी जद्दोजहद करनी पड़ी। सवालों में कई शब्द, सिंबल्स और फंक्शन थे, जिन्हें हल करने के लिए डीपमाइंड वास्तविक अनुमान नहीं लगा पा रहा था।

डीपमाइंड पहले भी बना चुकी है एआई तकनीक से लैस कई रोबोट

आने वाले समय में ऑफिसों और उद्योग में इंसानों की जगह रोबोट लेंगे, क्योंकि ऐसा माना जाता है कि एआई तकनीक से लैस रोबोट अक्लमंद और ज्यादा प्रोडक्टिव होते हैं। गौरतलब है कि साल 2014 में गूगल ने डीपमाइंड को खरीदा था।

डीपमाइंड ब्रिटेन की एक कंपनी है जो एआई रोबोट पर काम करती है और कंपनी ने अभी तक कई रोबोट भी तैयार किए हैं। कंपनी द्वारा बनाया गया प्रोग्राम अल्फा गो काफी लोकप्रिय रहा। वहीं कंपनी द्वारा तैयार किया गया प्रोग्राम अल्फाजीरो ने शतरंज प्रोग्राम स्टॉक्फिश को हरा दिया था।