जानिए सोने से पहले फोन का इस्तेमाल कैसे है आपके सेहत के लिए हानिकारक तुरंत हो जाए सतर्क

जानिए सोने से पहले फोन का इस्तेमाल कैसे है आपके सेहत के लिए हानिकारक तुरंत हो जाए सतर्क

November 20, 2018 0 By Vijay Kumar

दोस्तो, मै आज जो आपके लिए आर्टिकल लेकर आया हूं वो आज के जनरेशन की बहुत ही कॉमन सी लत है जो लगभग सभी को है बस कुछ लोग ही इस बुरी लत से बच पाएं है। जैसे जैसे स्मार्टफोन मार्किट में बढ़ते जा रहे है इनकी ओर हमारा रूझान भी बढ़ता जा रहा है। आज के समय में हर व्यक्ति के हाथ में स्मार्टफोन आसानी से नजर आ जाता है।

हां ये बात सच है कि इन स्मार्टफोन्स ने हमारी जीवनशैली को सरल बना दिया है लेकिन इसके साथ ही दूसरी सच्चाई यह भी है कि इसने हमारे सेहत पर भी दुष्प्रभाव डाला है। आप में कुछ लोग शायद? अब तक इस बात से वाकिफ ना हो लेकिन स्मार्टफोन का अत्याधिक उपयोग हमारे सेहत के लिए काफी हानिकारक है।

अध्धयन में यह पता चला है कि ज्यादातर लोगो को बार-बार फोन को छेड़ने की आदत होती है। आज के अंक हम आपको बताएंगे कि यदि आप भी सोने से पहले फोन का अत्याधिक अपयोग करते है तो यह किस प्रकार आप की सेहत पर बुरा प्रभाव डाल सकता है। नींद से पहले फोन को उपयोग करने से सेहत को होने वाले प्रभाव को जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे।

ये आर्टिकल मेरे निजी अनुभवो पर आधारित है मैं खुद भी इस बीमारी से जूझ रहा था। लेकिन सिर्फ अपनी कुछ आदतो में बदलाव करने मात्र से मैने इनसे छुटकारा पा लिया है। इस आर्टिकल से संबंधित जानकारीयां इंटरनेट पर भी उपलब्ध है। लेकिन इस आर्टिकल में केवल जरूरी पावंट को ही रखा गया है।

सोने से पहले फोन पर ब्राउजिंग के सेहत पर खराब प्रभाव

Excessive use of cell Phone is Harmful !

➪ रात में देर तक फोन पर ब्राउजिंग आपके सोने के पैटर्न को प्रभावित करता है। आपके शरीर का आवश्यक आराम नही मिल पाता है। यह नींद में कमी, अवसाद, स्ट्रोक, हृदय संबंधी समस्याएं, मोटापे आदि जैसे विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं में महत्वपूर्ण योगदान देता है।

➪सोने से पहले लंबे समय तक फोन को देखने से फोन की तेज रोशनी आपकी स्कीन पर पड़ती है। जिससे न्यूरॉन्स की गतिविधि धीमी हो सकती है और आपको देरी से नींद आती है। इससे यह प्रभाव पड़ता है कि जब आप सो भी जाते है तो यह आपके मस्तिष्क को जागने की स्थिति में रखता है। जिससे आपकी नींद पूरी नही हो पाती है। फोन की कृत्रिम रोशनी पर घूरते हुए मेलाटोनिन, नींद वाले हार्मोन दबाता है, जो आपके शरीर के नींद के चक्र को प्रभावित करता है।

Excessive use of cell Phone is Harmful !➪नींद से पहले फोन पर ब्राउजिंग भी आपकी आंखों पर बुरा प्रभाव डालता है। यदि यह आपकी प्रतिदिन की आदत है तो इससे आपकी आंखों को गंभीर नुकसान हो सकता है। जब आप सुबह जागते है और आपकी आंखो के आगे काफी देर तक अंधेरा छाया रहता है साथ ही थके हुए और उदास महसूस करते है तो यह आपकी खराब हो रही आंखो का संकेत है। अंधेरे में लंबे समय तक प्रकाशित स्क्रीन को देखते रहने से यह आपकी आंखो में बहुत अधिक तनाव पैदा करता है। आंखो में बहुत अधिक तनाव आपकी मानसिक स्वास्थय को भी प्रभावित करता है।

➪देर रात तक फोन पर ब्राउज करने से आपको सुबह समय पर जागने में परेशानी हो सकती है। आपके सेल फोन पर प्रकाश आपकी नींद को प्रभावित करता है, जो अनिद्रा को भी ट्रिगर कर सकता है। नींद की कमी आपकी सतर्कता और एकाग्रता स्तर को प्रभावित करती है। जिससे आपको हर वक्त थकान और नींद महसूस होती है।

यदि आपको भी ऊपर दिए गए निम्नलिखत में से कोई भी आदत है या आपको भी इनमें से किसी प्रकार की किसी परेशानी का अनुभव हो रहा है तो तुरंत आप को अपनी आदतो को बदलने की आवश्यकता है। यदि आपकी परेशानी अधिक बड़ रही है तो तुरंत स्पेशलिस्ट डॉक्टर से मिलने की आवश्यकता है। लेकिन ऊपर दी गई अधिकतर बिमारियो से आप केवल अपनी आदतो में सुधार से बच सकते है बस आपको समय पर जागरूक होने की आवश्यकता है।