एटीएम फ्रॉड से बचने के लिए इन 5 बातों का रखें विशेष ध्यान

एटीएम फ्रॉड से बचने के लिए इन 5 बातों का रखें विशेष ध्यान

January 21, 2019 0 By Amit kumar

आज लोग बैंक खाते से अपने पैसे निकालने के लिए आमतौर पर एटीएम का इस्तेमाल करते हैं। यह एटीएम सुविधाजनक तो है ही यह हमें बैंक की भीड़-भाड़ और चक्कर लगाने से भी बचाता है। एटीएम के बढ़ते इस्तेमाल की वजह से पिछले कुछ वर्षों में एटीएम फ्रॉड की घटनाओं में भी काफी इजाफा हुआ है। अगर आप चाहते हैं की आपके एटीएम से कोई और व्यक्ति पैसे ना निकाल सके और आप इस फ्राड से बचे रहें तो इसके लिए आपको काफी सावधानी बरतने की जरूरत है। साइबर एक्सपर्ट पवन दुग्गल के अनुसार आप एटीएम कार्ड के इस्तेमाल करते समय अगर इन पांच बातों का ध्यान रखें तो अपने पैसे को दूसरे खातों में जाने से रोक सकते हैं।

आज लोग बैंक खाते से अपने पैसे निकालने के लिए आमतौर पर एटीएम का इस्तेमाल करते हैं। यह एटीएम सुविधाजनक तो है ही यह हमें बैंक की भीड़-भाड़ और चक्कर लगाने से भी बचाता है। एटीएम के बढ़ते इस्तेमाल की वजह से पिछले कुछ वर्षों में एटीएम फ्रॉड की घटनाओं में भी काफी इजाफा हुआ है। अगर आप चाहते हैं की आपके एटीएम से कोई और व्यक्ति पैसे ना निकाल सके और आप इस फ्राड से बचे रहें तो इसके लिए आपको काफी सावधानी बरतने की जरूरत है। साइबर एक्सपर्ट पवन दुग्गल के अनुसार आप एटीएम कार्ड के इस्तेमाल करते समय अगर इन पांच बातों का ध्यान रखें तो अपने पैसे को दूसरे खातों में जाने से रोक सकते हैं।

इन बातों का ध्यान रख बचें एटीएम फ्रॉड से

मशीन की जांच करें

जब भी एटीएम से पैसे निकालने जाएं तो मशीन की जांच जरूर करें। बीते कुछ समय में कई ऐसे गिरोह पकड़े गए हैं जो एटीएम कार्ड पैनल ( जहां आप अपना कार्ड लगाते हैं) से छेड़छाड़ करते हैं और पैनल में प्लास्टिक नुमा एक चिप लगाते हैं। यूज़र जैसे ही अपना कार्ड उस पैनल में डालता है तो कार्ड से जुड़ी तमाम जानकारी उस चिप में भी कॉपी हो जाती है। कुछ समय बाद आकर आरोपी उस चिप को एटीएम पैनल से निकाल लेता है और उसमें दर्ज जानकारी का इस्तेमाल कर खाते से पैसे उड़ा लेता है।

इस तरह के फ्रॉड से बचने के लिए जब भी एटीएम से पैसे निकालने जाए तो पैनल को जरूर ध्यान से चेक करें। उस पर यदि कोई अजीब सी चीज चिपकी हुई दिखाई दे तो उसका इस्तेमाल ना करें साथ ही पुलिस को तुरंत ही इसकी सूचना दें।

सुनसान इलाकों वाले एटीएम का प्रयोग ना करें

एक्सपर्ट पवन दुग्गल के अनुसार आरोपी ऎसे एटीएम को खासतौर पर निशाना बनाते हैं जो सुनसान इलाके में होते हैं। क्योंकि ऐसे इलाकों में ज्यादा भीड़ भाड़ नहीं होती इसलिए एटीएम से छेड़छाड़ करने की संभावना ज्यादा बढ़ जाती है। अगर बहुत जरूरी ना हो तो ऐसे सुनसान इलाकों वाले एटीएम का प्रयोग करने से बचें।

एटीएम से पैसे निकालते समय किसी और की सहायता लेने से बचें

कई बार अपने बैंक के एटीएम की जगह दूसरे बैंक के एटीएम का इस्तेमाल करने की वजह से उस एटीएम स्क्रीन पर मिलने वाला ऑप्शन काफी अलग होता है। इस वजह से कई बार लोगों को इसे इस्तेमाल करने में परेशानी आती है और वह वहां साथ खड़े लोगों से मदद मांग लेते हैं। कई आरोपी ऐसे मौकों की फिराक में होते हैं। वह आपका एटीएम पिन देखने के बाद आपका कार्ड अपने कार्ड से बदल देते हैं। ऐसे मौकों पर यूजर को एटीएम कार्ड बदलने का पता तभी लग पाता है जब उसके खाते से पैसे निकाले जा चुके होते हैं। कोशिश करें कि दूसरे बैंक के एटीएम का इस्तेमाल करते समय किसी परिचित को अपने साथ ले जाएं ताकि किसी दूसरे व्यक्ति को अपना एटीएम ना देना पड़े।

बगैर गार्ड वाले एटीएम के इस्तेमाल से बचें

ऐसे ऐसे एटीएम का इस्तेमाल करने से बचे जहां सुरक्षा के लिए गार्ड मौजूद नहीं होते क्योंकि ऐसे एटीएम से छेड़छाड़ करने की संभावना होती है। इसीलिए बिना गार्ड वाले एटीएम का इस्तेमाल ना करें

अपना एटीएम पिन हमेशा चेंज करते रहे

अपने एटीएम को हैकिंग से बचाने के लिए अपने एटीएम पिन को समय-समय पर बदलते रहें। एक्सपर्ट पवन दुग्गल के अनुसार आप हर छह से आठ महीने में अपना एटीएम पिन बदलते रहें। इससे खाते और कार्ड के हैक होने की संभावनाएं काफी कम हो जाती हैं। हुई दिखाई दे तो उसका इस्तेमाल ना करें साथ ही पुलिस को तुरंत ही इसकी सूचना दें।